blogid : 19157 postid : 1373582

वास्‍तु के अनुसार बेडरूम बनाने से घर में रहती है सुख-समृद्धि, जानें किस दिशा में रखें किसका कमरा

Posted On: 10 Dec, 2017 Others में

Avanish Kumar Upadhyay

  • SocialTwist Tell-a-Friend

वास्‍तु को घर बनाने से लेकर घर सजाने तक में बेहद अहम माना जाता है। वास्‍तुशास्‍त्र में घर से संबंधित हर बातों का विवरण मिलता है। घर के मुख्‍यद्वार से लेकर बेडरूम तक, किस दिशा में क्‍या और किस तरह होना चाहिए इसे समझाया गया है। बेडरूम घर का सबसे महत्‍वपूर्ण हिस्‍सा माना जाता है, क्‍योंकि व्‍यक्ति अपने जीवन का अधिकतर समय यहीं व्यतीत करता है। बेडरूम का वास्तु घर के हर सदस्‍य के लिए अलग महत्व रखता है। आइये आपको बेडरूम से जुड़ी कुछ आवश्‍यक बातें बताते हैं, जिसे वास्‍तुशास्‍त्र में बताया गया है। ऐसी मान्‍यता है कि इनका पालन करने से घर में सुख-समृद्धि बनी रहती है।


bedroom


दक्षिण-पूर्व दिशा में रखें बुजुर्गों का कमरा

घर के दक्षिण-पूर्व दिशा में बुजुर्गों का कमरा होना लाभकारी माना जाता है। ऐसी मान्‍यता है कि जिन लोगों की सेहत ठीक नहीं रहती, उन्हें घर के दक्षिण-पश्चिम दिशा में कमरा देना चाहिए। इससे उनकी सेहत में लाभ पहुंचता है। वास्‍तुशास्‍त्र के अनुसार जिन लोगों की रुचि अध्यात्मिक कार्यों में होती है, उन्हें उत्तर-पूर्व दिशा में अपना बेडरूम बनाना चाहिए। इसी में बताया गया है कि नौकर को दक्षिण-पश्चिम दिशा में कभी भी सोने के लिए कमरा नहीं देना चाहिए। ऐसा करना घर के मालिक के लिए हानिकारक हो सकता है।


bedroom1


इस दिशा में बनाएं घर का मेन बेडरूम

वास्‍तुशास्‍त्र में बताया गया है कि दक्षिण-पश्चिम दिशा में घर का मेन बेडरूम होना चाहिए, जो घर के मालिक का हो। साथ ही इसमें रहने वाले व्यक्ति को दक्षिण की तरफ सिर और उत्तर की तरफ पैर करके सोना चाहिए। बच्चों का कमरा उत्तर-पश्चिम दिशा में होना लाभकारी माना जाता है। इसके पीछे मान्यता है कि बच्चे पढ़ाई के लिए विदेश जा सकते हैं। बताया जाता है कि जिन लोगों का कक्ष इस दिशा में होता है, वे अपने घर से बाहर रहते हैं।


bedroom3


नवविवाहित जोड़े के बेडरूम में ध्‍यान रखें यह बात

वास्‍तु शास्‍त्र के अनुसार माना जाता है कि यदि कम उम्र के बच्‍चे माता-पिता के साथ रहते हैं, तो माता-पिता को अपना बेडरूम उत्तर-पश्चिम दिशा में कर लेना चाहिए। इससे घर के लोगों के बीच संबंध मधुर रहते हैं। ऐसी मान्‍यता है कि देखा गया है कि जो बहू दक्षिण-पश्चिम दिशा में रहना शुरू कर देती है, वो घर पर अधिकार जमाने लगती है। इससे सास को तकलीफ होनी शुरू हो जाती है और घर की स्थितियां बिगड़ने लगती हैं। वहीं, उत्तर-पूर्व दिशा में यदि नवविवाहित जोड़ा रहने लग जाए, तो पति-पत्नी में झगड़ा हो सकता है। ऐसे जोड़े को संतान उत्‍पत्ति में भी समस्‍या होती है…Next


Read More:

मंगल की ऊर्जा को तेज करता है मूंगा रत्‍न, जानें किसके लिए होता है लाभकारी
अपनी मेहनत से किस्मत पलट देते हैं इन 5 राशियों के लोग, जल्दी नहीं मानते हार
तुलसी से घर में आती है सुख-समृद्धि, जानें किस दिशा में लगाना रहेगा शुभ



Tags:                 

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

0 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran