blogid : 19157 postid : 1137894

दुनिया की सबसे विशाल बुद्ध की मूर्ति, बनाने में लगे थे 90 साल, लंबाई है 230 फीट

Posted On: 11 Feb, 2016 Religious में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

दुनिया में कई तरह की धारणा सदियों से चलती आ रही है. जिनके पीछे कोई वैज्ञानिक तर्क न होने पर भी लोग पीढ़ियों तक इसे मानते आ रहे हैं. जैसे हमारे यहां कहा जाता है कि सुबह-सुबह अपने किसी प्रियजन का चेहरा देखना चाहिए, जिससे कि हमारा पूरा दिन अच्छा गुजर सके. इसी तरह चीन के लेशान में स्थित महात्मा बुद्ध की विशाल प्रतिमा को देखकर, लोग अपने नए साल की शुरूआत करते हैं.

buddha 1

Read : अर्जुन ने इस स्त्री का विवाह प्रस्ताव किया था अस्वीकार फिर भी मिला ये वरदान

इनकी मान्यता है कि नए साल की शुरूआत में अपने मार्गदर्शक गौतम बुद्ध की इस प्रतिमा को एक बार देखने भर से ही किसी भी व्यक्ति की सोई किस्मत चमक सकती है. ‘लेशान बुद्ध’ के नाम से प्रसिद्ध 230 फीट लम्बी इस पत्थर की प्रतिमा को, यूनेस्को द्वारा सबसे ऊंची नक्काशीदार पत्थर से बनी हुई मूर्ति घोषित किया गया है.


buddha2

उल्लेखनीय है कि 8 फरवरी से चीन में लुनर न्यू ईयर की शुरूआत हो चुकी है. न्यू ईयर के पहले ही दिन यहां पर दुनिया भर से लाखों श्रद्धालुगण दर्शन करने के लिए पहुंचे. इस दिन यहांं इतनी भीड़ थी कि लोगों को मुश्किल से पैर रखने की जगह मिल पा रही थी.


buddha3

Read : चाणक्य नीति के अनुसार इन चार परिस्थियों का सामना नहीं बल्कि इनसे भागना उचित

लेकिन फिर भी बुद्ध को एक नजर देखने के लिए, सभी लोगों में खास उत्साह साफ झलक रहा था. ये प्रतिमा लिंगयुआन पर्वत पर मौजूद है जिसमें बुद्ध ध्यानमुद्रा में बैठे हुए हैं. इस जगह के बारे में कहा जाता है इस मूर्ति का निर्माण ‘तंग’ वंश के दौरान 713 ई.सी में शुरू हुआ था.


Buddha4

जिसे बनने में करीब 90 साल लगे. 230 फीट लम्बी इस बुद्ध की मूर्ति की विशालता का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि बुद्ध के पैर का अंगूठा सामान्य डाइनिंग रूम में रखी जाने वाली, टेबल जितना बड़ा है…Next

Read more

इस भंयकर श्राप के कारण इन्द्र के पूरे शरीर पर निकल आई थी हजार योनियां

इस देवता के क्रोध से आज भी उबल रहा है यहाँ का जल?

कर्मचक्र से जुड़े इन पांच नियमों को जानकर हर मनुष्य बदल सकता है अपना जीवन



Tags:                             

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

0 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran