blogid : 19157 postid : 885115

चाणक्य नीति: ये चार बातें किसी से भी जग जाहिर न करें पुरुष

Posted On: 16 May, 2015 Religious में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

जाने-अनजाने या अति-उत्साह के कारण हमलोग कुछ ऐसी बातें अपने दोस्तों या आस-पास के लोगों को बता देते हैं जिसे गुप्त रहना ही उचित होता है. इस कारण हमें कई बार नुकसान उठाना पड़ता है. यह नुकसान आपके जीवन में तत्काल या दूरगामी हो सकता है. आचार्य चाणक्य ने मुख्य रूप से चार ऐसी बातें बताई हैं, जिन्हें हमेशा राज ही रखना चाहिए. यदि ये बातें अन्य लोगों के सामने जाहिर करते हैं, तो आपके जीवन में कई तरह की परेशानियां आ सकती है.


chankya



आचार्य चाणक्य अपने नीतियों में सफलता के मूल सूत्र बताते हैं. चाणक्य ने किसी भी व्यक्ति को ये चार बातें अपने मन में ही गुप्त रखने को कहा है-


Raed: आचार्य चाणक्य नीति: इनका भला करने पर मिल सकता है आपको पीड़ा



1. आचार्य चाणक्य कहते हैं कि समाज में गरीब व्यक्ति को धन की मदद आसानी से प्राप्त नहीं हो पाती है इसलिए हमें कभी भी धन की हानि से जुड़ी बातें किसी से जाहिर नहीं करनी चाहिए. यदि आपको धन की हानि हुई है तो इसे गुप्त रखना ही सही होता है. आर्थिक हानि होने पर आपकी मदद कोई नहीं करेगा. अत: इस बात को सदैव राज ही रखना चाहिए.


2. चाणक्य की दूसरी गुप्त रखने योग्य बात यह बताई है कि हमें कभी भी दुख की बातें किसी पर जाहिर नहीं करनी चाहिए. यदि हम मन का संताप दूसरों पर जाहिर करेंगे तो हो सकता है कि लोग आपकी भावनाओं को नहीं समझे और आपका मजाक बना दे, क्योंकि समाज में ऐसे लोगों की संख्या काफी हैं, जो दूसरों के दुखों का मजा लेते हैं. यदि दुःख के घड़ी में ऐसा होता है तो आपका दुख और बढ़ जाएगा.


jagran



3. चाणक्य तीसरी गुप्त रखने योग्य बातें पत्नी का चरित्र के विषय में बताते हैं. पुरुष को चाहिए कि वह अपनी पत्नी के अवगुण को किसी से न बांटे. पत्नी से जुड़ी सभी बातें गुप्त रखता ही उत्तम होता है. सज्जन पुरुष को घर-परिवार के झगड़े, सुख-दुख आदि बातें समाज में जाहिर नहीं करनी चाहिए. जो पुरुष घर की बातों को बहार ले जाते हैं, उन्हें भविष्य में भयंकर परिणाम झेलने पड़ सकते हैं.



Raed: चाणक्य ने बताया था किसी को भी हिप्नोटाइज करने का यह आसान तरीका, पढ़िए और लोगों को वश में कीजिए

4. चाणक्य अपनी चौथी गुप्त रखने योग्य बात यह बताते हैं कि यदि जीवन में कभी भी किसी नीच व्यक्ति ने आपका अपमान किया हो तो वह घटना भी किसी को नहीं बतानी चाहिए. यदि ऐसी घटनाओं की जानकारी अन्य लोगों तक पहुंचेगीं तो आपका मजाक बनाया जा सकता है. इससे आपकी प्रतिष्ठा में कमी आएगी.Next…



Read more:

अगर चाणक्य के इन 5 प्रश्नों का उत्तर है आपके पास तो सफलता चूमेगी आपके कदम

क्यों महिलाओं के बारे में ऐसा सोचते थे आचर्य चाणक्य

चाणक्य स्वयं बन सकते थे सम्राट, पढ़िए गुरू चाणक्य के जीवन से जुड़ी अनसुनी कहानी




Tags:             

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (3 votes, average: 3.33 out of 5)
Loading ... Loading ...

1 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

darshan attri के द्वारा
December 3, 2015

Very nice


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran